यहां तमंचे पर डिस्को करती है वीआईपी सुरक्षा

0

JNI NEWS : 08-04-2014 | By : वीरभान | In : Uncategorized

हूटर, शूटर और लूटरों का है इंसानी सांसों पर कब्जा

मैनपुरी, कहने को वीआईपी इलाका, मगर यहां के रहवासियों की सांसों पर हुकुम चलता है लुटेरों, हत्यारों और किडनैपरों का। वीआईपी क्षेत्र की कानून व्यवस्था को अपने तमंचे पर डिसको कराने वाले हथियारबंद बदमाश आए दिन यहां कभी आबरू पर चिंघाडते हैं तो कभी खून की होली खेलकर जश्न मनाते हैं। सरेआम होने वाली लूट और अपहरण की वारदातों को पुलिस अपने रिकार्ड में दर्ज कर सुबह होते ही एक बुरा सपना समझकर भूल जाती है। दो दिनों के अंदर जनपद की कानून व्यवस्था का चीरहरण करने वाले दुशासनों ने तीन बडी वारदातों को अंजाम देकर अपने नापाक मंसूबे जाहिर कर दिए। प्राॅपर्टी डीलर के नाती का अपहरण, बालक की ईंट-पत्थरों की कुचलकर निर्मम हत्या और भाई-बहन के साथ हुई लूट की तीन बडी वारदातों से जनपद दहला हुआ है।

पहली वारदात:
लापता बालक की पत्थरों से कुचलकर निर्मम हत्या
मृतक के गुप्तांगों में ठूंसी गईं लकडियां
18 घंटे बाद झाडियों में पडी मिली अर्द्धनग्न लाश

IMG_0190 copy

IMG_0193 copyमैनपुरी।
घर से लापता 12 वर्षीय बालक की क्षत-विक्षत रक्त रंजित लाश 18 घंटे बाद घर से दूर झाडियों में पडी मिलने से सनसनी फैल गई। अर्द्धनग्नावस्था में मिले बालक के शव को हत्यारों ने ईंट-पत्थरों से कुचलने के बाद उसके गुप्तांगों में लकडियां ठूंस दीं। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है। परिजनों द्वारा इस हत्याकाण्ड में मोहल्ले के ही लोगों पर आरोप लगाया जा रहा है।
कोतवाली क्षेत्र के कांशीराम कालोनी आजाद नगर निवासी ओमप्रकाश मजदूरी करके अपने परिवार का पालन करता है। ओमप्रकाश का सबसे छोटा पुत्र 12 वर्षीय विजय उर्फ छोटू सोमवार की शाम 6 बजे के बाद से लापता था। परिजनों के अनुसार उसकी रात भर तलाश की गई थी लेकिन कोई सुराग नहीं लगा था। मंगलवार की सुबह घर से दूर खेतों पर शौंच के लिए गए कुछ युवकों ने झाडियों के अंदर शव पडा देखा। शव होने की खबर मिलते ही कांशीराम कालोनी के लोग घटना स्थल पर पहुंच गए। मौके पर कोतवाली पुलिस भी पहुंची। पुलिस ने झाडियों में छिपे शव को बाहर निकलवाया तो उसकी पहचान लापता छोटू के रूप में की गई। छोटू के शव को हत्यारों से बुरी तरह से क्षत-विक्षत कर दिया था। सिर को ईंट-पत्थरों से कुचला गया था। इतना ही नहीं बहशी बने हत्यारों ने बालक के गुप्तांगों में लकडियां ठूंस दी थीं। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया है। पुलिस पूछताछ में परिजनों ने मोहल्ले के ही रहने वाले महेन्द्र व वीरपाल पुत्रगण स्व. हरीराम का नाम बताया है।

मोबाइल चिप को लेकर हुआ था विवाद
मृतक के पिता ओमप्रकाश ने बताया कि सोमवार की दोपहर उसके छोटे भाई कालीचरन के साथ मोहल्ले के ही वीरपाल व महेन्द्र का मोबाइल चिप को लेकर झगडा हुआ था। इस झगडे में छोटू ने भी विरोध किया था। पिता के अनुसार नामजदों ने धमकी दी थी कि चैबीस घंटे बाद उसका चिराग बुझा देंगे। पिता ने नामजदों पर ही अपने पुत्र की हत्या करने का आरोप लगाया है। चर्चा है कि वीरपाल जादू-टोने और झाड-फूंक करने का भी काम करता है। ऐसे में तरह-तरह की बातें सामने आ रही हैं। प्रथम दृष्टया पुलिस का मानना है कि हो सकता है कि हत्यारों ने बालक के साथ कोई अनैतिक कार्य भी किया हो लेकिन बिना पोस्टमार्टम के इसकी पुष्टि नहीं की जा सकती है।

दूसरी वारदात:

राजकीय ठेकेदार के नाती का अपहरण
पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप
खेत पर जाते समय रहस्यमय ढंग से हुआ लापता

मैनपुरी।
कोतवाली क्षेत्र के रामलीला मैदान निवासी एक छात्र रहस्यमय ढंग से लापता हो गया है। 24 घंटे से भी ज्यादा का समय बीत जाने के बाद परिजनों द्वारा अब अपने पुत्र के अपहरण की आशंका व्यक्त की जा रही है। अपह्त छात्र के दादा राजकीय ठेकेदार हैं।
नगर के रामलीला मैदान निवासी राजवीर सिंह का 16 वर्षीय पुत्र अजय गौतम बुद्ध इंटर कालेज में कक्षा 11 का छात्र है। अजय सोमवार की दोपहर अपनी दादी ध्वजा देवी के साथ खेत पर जा रहा था। अचानक बस्ती की गलियों से ही अजय रहस्यमय ढंग से लापता हो गया। बहुत देर तक अजय खेत पर नहीं पहुंचा तो परिजनों को चिंता हुई। बहुत तलाश करने के बाद भी अजय का कोई सुराग नहीं लग सका। परिजनों ने आशंका जताई है कि उनके पुत्र का अपहरण कर लिया गया है। हालांकि अभी अपहरणकर्ताओं द्वारा किसी भी प्रकार के धमकी भरे फोन से परिजन इनकार कर रहे हैं। परिजनों के अनुसार अजय 7 माह पूर्व ही बैंगलोर से धम्म ज्ञान शिक्षा प्राप्त करके लौटा है। लापता छात्र के दादा प्रेम सिंह शाक्य एवं राम सिंह शाक्य राजकीय ठेकेदार हैं। परिजनों का आरोप है कि पुलिस इस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही है।

तीसरी वारदात:

तमंचों की नोंक भाई-बहन को बाइकर्स लुटेरों ने लूटा

मैनपुरी।
अपने भाई के साथ बाइक पर सवार होकर मायके जा रही बहन को अज्ञात बाइकर्स लुटेरों ने तमंचों के बल पर लूट लिया। सीमा विवाद में उलझी दो थानों की पुलिस ने पीडित भाई-बहन की फरियाद सुनना भी जरूरी नहीं समझा। थक-हारकर वारदात के कई घंटों बाद पीडितों ने एसपी को प्रार्थना पत्र दिया है।
दन्नाहार थाना क्षेत्र के ग्राम कंजाहार निवासी संध्या पत्नी अजय कुमार अपने भाई विपिन पुत्र राजीव कुमार के साथ अपने मायके ऊसराहार जनपद इटावा जा रही थी। दोनों भाई-बहन भांवत नहर पुल पार करने के बाद ग्राम कुरारी के समीप पहुंच ही थे, कि विपरीत दिशा से आ रहे अज्ञात बाइकर्स लुटेरों ने तमंचों के बल पर उन्हें रोक लिया। बाइकर्स लुटेरों ने भाई-बहन के साथ मारपीट करते हुए 10 हजार की नकदी व आभूषण लूट लिए। पीडित भाई बहन का आरोप है कि जब वे शिकायत करने के लिए कुर्रा थाना पुलिस के पास पहुंचे तो पुलिस ने इसे एलाऊ थाने का प्रकरण बताकर पल्ला झाड लिया। बाद में जब ऐलाऊ थाना पुलिस के पास गए तो यहां की पुलिस ने कुर्रा थाने में लौटा दिया। सीमा विवाद में उलझी पुलिस ने भाई-बहनों की शिकायत दर्ज नहीं की। मंगलवार को पीडितों ने एसपी को प्रार्थना पत्र भेजा है।

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-