पीठासीन अधिकारियों को हो ईवीएम की जानकारी: डीएम

0

JNI NEWS : 10-04-2014 | By : वीरभान | In : Uncategorized

सुदिती ग्लोबल स्कूल में दिया गया प्रशिक्षण

DSCN2931 copyमैनपुरी।
जिलाधिकारी गोविन्द राजू ने कहा है कि मतदान में पीठासीन अधिकारी की सबसे बडी भूमिका होती है। बूथ के अंदर पीठासीन अधिकारी द्वारा लिया गया निर्णय ही सर्वमान्य होता है। सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है कि सभी पीठासीन अधिकारी अपने अधिकारों को जानें और चुनाव को निष्पक्ष तौर से संपन्न कराएं।
डीएम राजू बृहस्पतिवार को सुदिती ग्लोबल एकेडमी में पीठासीन अधिकारियों को प्रशिक्षण दे रहे थे। उन्होंने कहा कि ईवीएम के संचालन में यदि किसी भी पीठासीन अधिकारी को किसी प्रकार का संदेह हो, तो वह प्रशिक्षण के दौरान अपना संदेह दूर कर सकता है। प्रशिक्षण के दौरान मतदान से संबंधित प्रत्येक जानकारी का ज्ञान होना आवश्यक है। डीएम ने स्वयं ईवीएम मशीनों का प्रशिक्षण देते हुए पीठासीन अधिकारियों से इस संबंध में जानकारी जुटाई। उन्होंने कहा कि यदि अभी किसी ने संकोच किया तो मतदान के दिन आने वाली समस्या बेहद विकराल हो सकती है और वहां बताने वाला कोई भी नहीं होगा। इसका परिणाम मतदान प्रक्रिया पर पडेगा। सभी पीठासीन अधिकारियों को एक पुस्तक भी उपलब्ध कराई गई जिसमें ईवीएम से संबंधित समस्त जानकारियां मौजूद हैं।
सीडीओ अरूण कुमार शर्मा ने कहा कि 24 अप्रैल को प्रातः 7 बजे से सायं 6 बजे तक मतदाता वोट डाल सकेगे। अब आयोग की नई व्यवस्था के अनुसार पीठासीन अधिकारियों को बूथ पर पहुचने, माक पोल पूर्ण होने, मतदान प्रारभ्भ होने तथा उसके बाद प्रत्येक दो-दो घण्टे के अन्तराल पर मतदान की सूचना देनी होगी। पहले दिन के प्रशिक्षण में 16 पीठासीन अधिकारी अनुपस्थित रहे।
प्रशिक्षण के दौरान पीडी महेश चन्द्र यादव, आचार्य टीईपी सेन्टर जेके त्रिवेदी, राकेश रंजन, डीआईएसओ इफितखार अहमद, निदेशक सुदिति ग्लोवल एकेडेमी डा. राम मोहन, प्रभारी अधिकारी ईवीएम प्रशिक्षण ओमवीर दीक्षित, मास्टर टेªनर आदि उपस्थित रहे।

इस लेख/समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया लिखें-